Tuesday, March 9, 2010

" नारी " - महिला दिवस के उपलक्ष में

नारी कोमल भी, नारी शक्ति भी,
नारी इश्वर मे लीन भक्ति भी ।
नारी बेटी, बहन, माँ और पत्नी का प्यार भी,
नारी अपने में सिमटा पूरा संसार भी ॥

बेटी बन, पिता की इज़्जत पर आँच ना आने दिया ।
बहन बन, भाई के पास किसी बला को ना जाने दिया ॥
पत्नी बन, पति का जीवन सँवार दिया ।
और माँ बन, सारी बलाईयाँ अपने सर लिया ।

भूखे पेट रहकर, परिवार को खिलाने की ममता नारी में।
निगाहों मे अश्क लेकर मुस्कुराने की क्षमता नारी में ॥
मैका भुलाकर, ससुराल को अपनाने का ज़ज्बा नारी में ।
सुहाग के लिये, यमराज से टकराने का हौसला नारी में ॥

ज़िन्दगी मे नारी की मर्यादा का मान किजीये ।
सरेबाज़ार ना उसकी आबरू कभी निलाम किजीये ॥
वक्त के साथ बेटी ही होती हैं, माँ की ममता का रूप,
जन्म लेने से पहले उसके कफ़न का ना इन्तेजाम किजीये ॥

13 comments:

  1. Bahut sundar shabdo me sanjo kar sundar bhavanaao ke sath nari swarup ka chitran kiya aapane...Badhai
    Happy Women's Day !!

    ReplyDelete
  2. उम्दा संदेश देती रचना.

    विश्व की सभी महिलायों को अंतर राष्ट्रीय महिला दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.

    ReplyDelete
  3. बहुत अच्छी कविता।

    ReplyDelete
  4. बहुत ही बेहतरीन कविता लगी , बधाई स्वीकार्य करें ।

    ReplyDelete
  5. बहुत सुंदर रचना ... अच्छा संदेश छिपा है ...

    ReplyDelete
  6. नारी कोमल भी, नारी शक्ति भी,
    नारी इश्वर मे लीन भक्ति भी ।
    नारी बेटी, बहन, माँ और पत्नी का प्यार भी,
    नारी अपने में सिमटा पूरा संसार भी ॥
    bahut acchee kavita atulneey..............

    ReplyDelete
  7. naari ke vibhinn swaroopon ka bahut hi achche dhang se chi ran kiya hai. aati sundar post .
    poonam

    ReplyDelete
  8. बहुत ही सुन्दरता से आपने नारी के हर रूप का चित्रण बखूबी प्रस्तुत किया है! उम्दा रचना!

    ReplyDelete
  9. महिला दिवस पर ये भावभीनी कविता के लिये आपको बहुत बधाई ।

    ReplyDelete
  10. भूखे पेट रहकर, परिवार को खिलाने की ममता नारी में।
    निगाहों मे अश्क लेकर मुस्कुराने की क्षमता नारी में ॥
    मैका भुलाकर, ससुराल को अपनाने का ज़ज्बा नारी में ।
    सुहाग के लिये, यमराज से टकराने का हौसला नारी में ॥
    bahut sundar varnan ,umda

    ReplyDelete
  11. बहुत ही बेहतरीन कविता लगी , बधाई स्वीकार्य करें ।

    ReplyDelete
  12. meree 100th post DARPAN par aapke hastakshar nahee mile kamee akharee ........:)

    ReplyDelete